सत्य काम | सत्य संकल्प ||

The functioning of Karma is very deep. It is obscure to most of us. Sometimes we get confused when a wrong-doer seems flourishing in life. We might even be tempted to follow that path. However, God is impartial. God is just. The secret of Karma is understood through these divine Swarved Divya Vanis of Sant Pravar Shri Vigyandeo Ji Maharaj.

कर्म की गति अत्यंत गहन है। अनेक बार भ्रम हो जाता है कर्मफलों के विषय में। कई बार तो अनुचित कर्मों के पथ पर चल रहे व्यक्ति को बाहरी रूप से सुखी देखकर अनेक संशय उठने लगते हैं। परंतु ईश्वर न्यायकारी है। कर्मफलों के रहस्य को हम ब्रह्मनिष्ठ सुपूज्य सन्त प्रवर श्री विज्ञानदेव जी महाराज की स्वर्वेद दिव्य वाणी से स्पष्ट समझ सकते हैं।

Follow us: